कादर खान की हालत नाजुक, वेंट‍िलेटर पर


पिछले कुछ समय से अस्वस्थ चल रहे बॉलीवुड अभिनेता कादर खान की हालत नाजुक है। उन्हें वेंटीलेटर पर रखा गया है।
Photo/Twitter

मुंबई। पिछले कुछ समय से अस्वस्थ चल रहे बॉलीवुड अभिनेता कादर खान की हालत नाजुक है। उन्हें वेंटीलेटर पर रखा गया है। सूत्रों के मुताबिक कादर खान को निमोनिया की शिकायत के बाद अस्पताल में भर्ती कराया गया है। कादर खान इन दिनों अपने बेटे के साथ कनाडा में रह रहे हैं। प्राप्त खबर के मुताबिक उनकी हालात को देखते हुए रेगुलर वेंटीलेटर पर रखना ठीक नहीं है। बताया जा रहा है कि कादर खान ने बातचीत भी बंद कर ही है। कादर खान को प्रोग्रेसिव सुपरन्यूक्लियर पाल्सी (पीएसपी) की तकलीफ बताई गई है। अमिताभ बच्चन ने ट्वीट कर उनकी सलामती के लिए दुआएं मांगी हैं।

आपको बता दें कि कादर खान 1937 में अफगानिस्तान के काबुल में जन्मे थे। कादर खान की परवरिश बेहद गरीबी के बीच हुई है। कादर खान को मां की कही एक बात ऐसी लगी कि इसने उनकी जिंदगी बना दी। कादर की मां ने कहा था कि यदि परिवार की गरीबी मिटाना चाहते हो तो पढ़ाई पर फोकस करो। इसके बाद कादर खान ने खुद को पढ़ाई लिखाई में झोंक दिया। कादर खान ने इस्माइल यूसुफ कॉलेज से इंजीनियरिंग की और एमएच सैबू सिद्दिक कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग में सिविल इंजीनियरिंग के प्रोफेसर हो गए। उन्हें उर्दू शायरी पढ़ने लिखने का भी बहुत शौक था। जब अपने कॉलेज में कादर खान एनुअल फंक्शन में परफॉर्म कर रहे थे, तब दिलीप कुमार उनकी अदाकारी से इतने प्रभावित हुए कि उन्हें अपनी अगली फिल्म में साइन कर लिया। इसके बाद कादर का परिवार मुंबई आ गया और यहां उन्होंने अदाकारी में अपना करियर शुरू किया। एक्ट‍िंग के अलावा कादर खान ने 250 से ज्यादा फिल्मों में डायलॉग भी लिखे हैं। फिल्म रोटी (1974) के डायलॉग लिखने के लिए राजेश खन्ना और मनमोहन देसाई ने उन्हें 1।21 लाख रुपए की फीस दी थी, जो उस समय बहुत ज्यादा मानी जाती थी। कादर खान अपने संजीदा और कॉमेडी दोनों ही तरह के किरदारों के लिए खास पहचान रखते हैं। कादर खान ने 300 से ज्यादा फिल्मों में काम किया है और 1970 और 1980 के दशक के जाने माने स्क्रीनराइटर भी रहे हैं।

– ईएमएस