संपत्ति को लेकर निरूपा रॉय के बेटों में विवाद गहराया, की मारपीट


मुंबई (ईएमएस)। बॉलिवुड में मां की यादगार भूमिकाएं निभाने वाली निरूपा रॉय के नेपियन सी रोड वाले घर को लेकर उनके बेटों की के बीच विवाद बहुत बढ़ गया है। लगभग 200 हिंदी फिल्मों में काम करने वाली निरुपा राय के छोटे बेटे किरण और बड़े बेटे योगेश के बीच लड़ाई इतनी बढ़ गई कि मामला पुलिस तक जा पहुंचा है। मालाबार हिल स्टेशन के वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि निरुपा रॉय के छोटे बेटे किरण ने पुलिस में शिकायत की है कि उनके बड़े भाई ने नशे में धुत्त होकर उनके साथ मारपीट की है। 45 वर्षीय किरण ने बताया योगेश अपार्टमेंट के उस हिस्से में घुस आए, जहां उनका (किरण) वरिवार रहता है। उन्होंने आते ही तोड़फोड़ शुरू कर दी और उनके परिवार के साथ गाली-गलौज करने लगे। किरण ने कहा यह बेहद डरावना अनुभव था, क्योंकि वह कभी भी अपार्टमेंट के हमारे हिस्से में दाखिल नहीं होते। उन्होंने मेरी पत्नी को धक्का दिया और मुझे भी मारा। मेरे बच्चे काफी डर गए थे। किरण ने कहा कि वह नशे में थे और पूरी तरह नियंत्रण के बाहर थे। उनके उत्पात से सहमे सभी लोगों ने अपने आपको एक कमरे में बंद कर अपनी जान बचाई।
योगेश इन सभी आरोपों को बेबुनियाद बताया है। योगेश का कहना है कि किरण ने मैसेज भेजकर और ताना मारकर उन्हें चिढ़ाने की कोशिश की। 57 साल के योगेश ने कहा उन्होंने अपार्टमेंट की सारी लाइटें ऑन रखी थी और तीन एसी चला रखे थे, क्योंकि उन्हें पता है कि बिल मुझे भरना है। वह हमेशा मुझे सताने की कोशिश में रहते हैं। योगेश ने अपने भाई की पत्नी पर हाथ उठाने के आरोप को भी गलत बताया है। इस घर की कीमत लगभग 100 करोड़ बताई जा रही है। किरण (45) की फैमिली और योगश (57) एंबेसी अपार्टमेंट में मौजूद चार बेडरूम वाले ग्राउंड फ्लोर के फ्लैट में रहते हैं, जिसे निरूपा रॉय ने 1963 में 10 लाख से भी कम कीमत में खरीदा था। दोनों भाइयों के हिस्से में दो-दो बेडरूम हैं, जो कि 3000 स्क्वायर फीट में फैला हुआ है। इसके अलावा इस फ्लैट के साथ 8,000 स्क्वायर फीट का गार्डन एरिया भी है।
निरूपा रॉय की मौत के बाद उनके पति कमल रॉय इस प्रॉपर्टी के मालिक हो गए। बेटों के बीच यह विवाद तब और बढ़ गया, जब उनके पिता कमल रॉय का भी निधन हो गया। साल 2016 में किरण ने बॉम्बे हाई कोर्ट में याचिका दायर की, जिसमें उन्होंने अपने बड़े भाई पर इस घर का मालिकाना हक पाने के लिए उन्हें डराने और धमकाने का आरोप लगाया। इस याचिका में कहा गया था कि निरूपा अपने आखिरी वसीयतनामे में नेपियन सी रोड आपार्टमेंट की पूरी सम्पत्ति किरण और कमल रॉय के नाम कर चुकी थीं। इस याचिका में किरण ने घर के उस हिस्से में योगेश और उनके परिवार को आने-जाने से रोक लगाने की मांग की थी, जिधर उनका परिवार रहता है।