विश्वकप टीम में अब भी वापसी कर सकते हैं अश्विन-जड़ेजा


नई दिल्ली (ईएमएस)। युवा फिरकी गेंदबाज कुलदीप यादव और युजवेन्द्र चहल ने शानदार प्रदर्शन कर भारतीय क्रिकेट टीम में अपना स्थान पक्का कर लिया है। इन दोनों युवा दोनों खिलाड़ियों को आर अश्विन और रविन्द्र जडेजा जैसे अनुभवी खिलाड़ियों की जगह टीम में स्थान दिया गया है। सन 2019 के विश्व कप को ध्यान में रखते हुए कप्तान विराट कोहली ने भी दोनों खिलाड़ियों को टीम का एक्स फैक्टर मान लिया है। तो क्या अब अश्विन और जड़ेजा के दिन लद चुके हैं?
गेंदबाजी कोच भरत अरुण इस सवाल से इत्तेफाक नहीं रखते। उनका मानना है कि विश्वकप टीम में इस स्पिन जोड़ी के लिए दरवाजे अब भी खुले हुए हैं। अरुण ने माना कि नए गेंदबाज चहल और कुलदीप ने शानदार प्रदर्शन इसलिए किया क्योंकि कलाई के स्पिनर पिच से मिलने वाली मदद और हालात पर निर्भर नहीं रहते। साउथ अफ्रीका के खिलाफ होने वाले सीरीज के चौथे वनडे के पहले अरुण ने कहा, ‘‘वे (चहल और कुलदीप) काफी सकारात्मक हैं। वे गेंद को फ्लाइट करने से डरते नहीं हैं। कुछ पाने के लिए गेंद को ज्यादा धुमाने से भी नहीं डरते और इसके साथ ही विकेट (पिच और हालात) पर ज्यादा निर्भर नहीं रहते है।’’ कुलदीप और चहल की शानदार गेंदबाजी के बूते भारत ने छह मैचों की इस सीरीज में 3-0 की अपराजेय बढ़त बना ली है। पिछले साल भारत के श्रीलंका दौरे से टीम में साथ खेलना शुरू करने वाले इन दोनों गेंदबाजों ने 17 मैच में 32 शिकार किए है। इस शानदार प्रदर्शन के बाद भी गेंदबाजी कोच का मानना है कि विश्व कप टीम के लिए जगह बाकी है। उन्होने कहा, ‘‘हमारे पास गेंदबाजों का अच्छा पूल है। हम जिस तरह से क्रिकेट खेल रहे हैं, उसे देखते हुए हर फॉर्मेट में गेंदबाजों को तरोताजा रखने के लिए हमें उन्हें रोटेट करके मौका देना होगा।’’ उन्होंने कहा, ‘‘ऐसा नहीं है कि अश्विन और जडेजा वनडे टीम में शामिल होने की दौड़ में नहीं हैं। वे अब भी टीम में जगह बना सकते हैं।’’