विराट के लिए सौगात लेकर आया 2015


 

मेलबोर्न। टीम इंडिया के नये कप्तान विराट कोहली के लिए नया साल खुशियों की सौगात लेकर आया है। साल २०१४ के समाप्त होने के एक दिन पहले ही टेस्ट को अलविदा कह चुके महेंद्र धोनी के जाने के बाद अब विराट के पास ही टीम इंडिया की बागडोर है। विराट ने यहां कार्यवाहक कप्तान के रूप में पहले टेस्ट में बेहतरीन बल्लेबाजी करते हुए अपने को साबित भी किया था। इस मैच में टीम इंडिया ने लक्ष्य का पीछा करते हुए आक्रामक खेल खेला था।
इतना ही नहीं बीसीसीआई भी विराट के आगे मेहरबान लगती है। यह संकेत इससे मिलता है कि बोर्ड ने विराट के लिए अपने नियम ही बदल दिये। बीसीसीआई के पूर्व नियमों के अनुसार, कोई भी खिलाड़ी विदेश दौरों में अपनी गर्लप्रेंâड नहीं ले जा सकता था
विराट के आगे बीसीसीआई भी नरम पड़ गई या यह कहें कि बोर्ड ने अपने नियम ही बदल दिए। अनुष्का को साल के आखिरी में ऑस्ट्रेलिया भेज दिया। हालांकि गर्लप्रेंâड को खिलाड़ी के साथ एक ही कमरा शेयर करने पर अभी भी पाबंदी है।