शेयर बाजार ने लगाई तेजी की हैट्रिक


  • सेंसेक्स ३३० अंक चढ़कर २७,७०२ पर बंद
  • निफ्टी ९९ उछलकर ८,३२४ पर बंद

मुंबई। सरकार के बीमा संशोधन विधेयक एवं कोयला ब्लाकों के आवंटन जुडे विधेयक पर अध्यादेश लाने की तैयारी से उत्साहित निवेशकों की आखिरी सत्र में हुई चौतरफा लिवाली से कारोबारी सप्ताह के पहले दिन भारतीय शेयर बाजार के प्रमुख सूचकांक लगातार तीसरे दिन तेजी के साथ बंद हुए। पावर और बैंंिकग-एफएमसीजी क्षेत्रों में सबसे ज्यादा खरीदारी के चलते सोमवार को कारोबार की समाप्ति पर सेंसेक्स ३३० अंक की मजबूती के साथ २७,७०२ पर बंद हुआ जबकि निफ्टी ९९ अंक चढ़ कर ८,३२४ पर बंद हुआ। सीएनएक्स मिडकैप में ०.८५ फीसद की मजबूती रही। बीएसई के स्मॉलकैप में ०.३५ फीसद और मिडकैप में ०.९२ फीसद की मजबूती रही। बी.एस.ई. में कुल ३०२४ कंपनियों के शेयरों में कारोबार हुआ जिनमें से १५५२ फायदे में और १३५५ नुक्सान में रहे जबकि ११७ में कोई बदलाव नहीं हुआ। आर्थिक जानकारों का कहना है कि सरकार वर्तमान सत्र में राज्यसभा में गतिरोध की वजह से बीमा, कोयला ब्लाको और कई अन्य महत्वपूर्ण विधेयको के पारित नहीं होने की स्थिति में वैश्विक स्तर पर निवेशको का विश्वास जीतने के लिए इन पर अध्यादेश लाने की तैयारी कर रही है जिसका बाजार पर असर दिखा है।

सकारात्मक एशियाई संकेतों के बीच घरेलू बाजार की शुरुआत मजबूती के साथ हुई। शुरुआती कारोबार में बाजार में एक सीमित दायरे में कारोबार होता रहा। मजबूत यूरोपीय संकेतों के बीच घरेलू बाजार को बल मिला। दोपहर के कारोबार में बाजार की मजबूती बढ़ती चली गयी। कारोबार के आखिरी घंटों में बाजार का जोश बढ़ा। निफ्टी ८,३०० के स्तर को पार करने में कामयाब रहा। इस दौरान सेंसेक्स २७,७२५ और निफ्टी ८,३३१ दिन के ऊपरी स्तरों तक चढ़ गये और सोमवार के कारोबार में अपने ऊपरी स्तरों के आसपास ही बंद हुए। क्षेत्रों के लिहाज से सोमवार के कारोबार को देखें तो पावर को सबसे ज्यादा १.४८ फीसद का फायदा हुआ। इसके अलावा बैंंिकग, एफएमसीजी, ऑटो, कंज्यमूर डयूरेबल्स, धातु, तेल-गैस, रियल्टी, हेल्थकेयर, टीईसीके, कैपिटल गुड्स और आईटी सेक्टर के शेयरों में बढ़त रही।