एसएमएस और एटीएम पर्ची हिन्दी में मिलेगी!


नईदिल्ली । अगर गृह मंत्रालय का प्रस्ताव सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक स्वीकार कर लेते हैं तब बैंक लेनदेन के संदेश और एटीएम मशीन से पर्ची हिन्दी में जल्द की मिल सकती है। यह हिन्दी को आधिकारिक कार्यों में लोकप्रिय बनाने का प्रयास है। गृह मंत्रालय के राजभाषा विभाग ने कहा कि अभी तक इंटरनेट बैंंिकग वेबसाइट पर हिन्दी भाषा में काम करने की कोई सुविधा नहीं है और न ही सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों में मोबाइल बैंंिकग में ही हिन्दी के प्रयोग की सुविधा है।

राजभाषा विभाग ने हाल ही में वित्त मंत्रालय के वित्तीय सेवा विभाग को लिखे पत्र में कहा कि बैंकों को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि उपभोक्ताओं को बैंक लेनदेन के बारे में ईमेल और एसएमएस से जानकारी हिन्दी में दी जाए। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और उनके मंत्रिमंडल के अन्य वरिष्ठ सदस्य अपने दैनिक कामकाज में हिन्दी का व्यापक उपयोग करते हैं। मोदी ने संयुक्त राष्ट्र महासभा में अपना पहला भाषण हिन्दी में दिया था और वह विश्व नेताओं से हिन्दी में ही बात करते हैं। पत्र के अनुसार, गृह मंत्रालय चाहता है कि एटीएम मशीन पर्ची अंग्रेजी के साथ हिन्दी में जारी करे। वह चाहता है कि उपभोक्ता इंटरनेट बैंंिकग पोर्टल पर हिन्दी में काम कर सके।