जल्द शुरू हो सकती है गुजरात के शहरों के बीच हवाई सेवा


अहमदाबाद। गुजरात के शहरों के बीच जारी महीने के अंत तक हवाई सेवा शुरू होने की संभावना है। जिसके लिए मेरीटाइम एनर्जी हेली एयर सर्विसिस (मेहर एविएशन) का एक विमान अहमदाबाद हवाई अड्डे पर पार्क हो चुका है।

गुजरात के उद्योगपति और व्यापारी की अहमदाबाद, सूरत, राजकोट, जामनगर, भवनगर और कच्छ की आए दिन यात्रा करते हैं। अपना समय बचाने के लिए उद्योगपतियों और व्यापारियों की राज्य के प्रमुख शहरों के बीच हवाई शुरू करने की मांग जारी है। ये मांग बहुत जल्द पूरी होने की संभावना है। वाइब्रेंट गुजरात ग्लॉबल इन्वेस्टर्स समिट २०१५ के पहले राज्य के प्रमुख शहरों के बीच हवाई सेवा शुरू की जा सकती है। इंट्रा-स्टेट विमान शुरू करने के लिए मेरीटाइम एनर्जी हेली एयर सर्विसिस का पहला विमान अहमदाबाद हवाई अड्डे पर आ चुका है। हवाई अड्डे के सूत्रों ने इस बात की पुष्टि की है। कंपनी वाइब्रेंट समिट से पूर्व ३१ दिसंबर तक इन्ट्रा स्टेट विमान सेवा शुरू कर देगी।

अहमदाबाद में अपना पहला विमान लेकर आए (मेहर एविएशन) के मुखिया सिद्धार्थ वर्मा के मुताबिक हवाई सेवा के बारे में किसी प्रकार की टिप्पणी करने से इंकार करते हुए कहा कि इसकी अधिकृत घोषणा राज्य सरकार करेगी। एयरपोर्ट सूत्रों के मुताबिक सोमवार की शाम मेहर एविएशन के विमान ने अहमदाबाद में लैंडिंग किया था। राज्य के शहरों को हवाई सेवा से जोडऩे के लिए गुजरात स्टेट एविएशन इन्फ्रास्ट्रक्चर कंपनी लिमिटेड द्वारा निविदाएं जारी कर मेरीटाइम एनर्जी हेली एयर सर्विसिस का चयन किया गया था। प्रारंभ में हवाई सेवा के लिए ९ से १९ सीटों वाले विमानों का उपयोग किया जाएगा। इन विमानों से अहमदाबाद, सूरत, जामनगर, भावनगर, भूज, कडला, केशोद, पोरबंदर और राजकोट जैसे शहरों को हवाई सेवा से जोड़ा जाएगा। मेहर एविएशन अहमदाबाद से भुज और अहमदाबाद से जामनगर शहर को हवाई सेवा उपलब्ध करवाएगी।

गौरतलब है कि सूरत में हीरे के कारोबार से जुड़े एक समूह ने डायमंड एरोनोटिक्स नामक विमान सेवा शुरू की है। फिलहाल यह हवाई सेवा सूरत और भावनगर के बीच सीमित है। आगामी दिनों में डायमंड एरोनोटिक्स राज्य के अन्य शहरों के बीच हवाई सेवा की घोषणा कर सकती है।
गुजरात में आतंरिक विमान सेवा प्रारंभ करने का सबसे पहले प्रयास किया था। परंतु इसके क्रियान्वयन से पहले मध्य प्रदेश ने इंट्रा स्टेट हवाई सेवा शुरू कर दी थी। हालांकि गुजरात सरकार के इंट्रा स्टेट हवाई सेवा शुरू करने का प्रयास जारी थी। उसी दौरान केप्टन गोपीनाथ ने डेक्कन चार्टर्ड के नाम से अपनी हवाई सेवा शुरू करने की घोषणा की थी। हालांकि केन्द्र सरकार की मंजूरी नहीं मिलने से वह भी शुरू नहीं हो चुकी।