ओडिशा को 1020 करोड़ रुपये जीएसटी मुआवजा मिला


भुवनेश्वर (ईएमएस)। ओडिशा सरकार ने चालू वित्त वर्ष में जुलाई से अक्टूबर अवधि के लिए वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) मुआवजा के तहत 1,020 करोड़ रुपये प्राप्त किए हैं, जबकि पिछले साल की समान अवधि की तुलना में राज्य के राजस्व में भी वृद्धि दर्ज की गई है। विदित हो कि देश भर में जीएसटी को एक जुलाई से लागू किया गया था। राज्य के वित्तमंत्री शशिभूषण बेहेरा ने विधानसभा को बताया कि राज्य सरकार ने जुलाई और अगस्त के लिए जीएसटी मुआवजा के तहत 333 करोड़ रुपये प्राप्त किए, जबकि सितंबर और अक्टूबर के लिए केंद्रीय वित्त मंत्रालय ने 687 करोड़ रुपये जारी किए। भूषण ने कहा कि मुआवजा राशि में कमी या बढ़ोतरी को वित्त वर्ष के अंत में समायोजित किया जाएगा।

जीएसटी (राज्यों को मुआवजा) विधेयक के मुताबिक, अगर राज्यों की वृद्धि दर 14 फीसदी से कम होती है, तो उसे राजस्व में हानि मानकर मुआवजा दिया जाएगा। मुआवजा की गणना के लिए आधार वर्ष 2015-16 है। भूषण ने कहा, राज्य सरकार ने वित्त वर्ष 2015-16 में 14 फीसदी की वृद्धि दर के साथ 11,047 करोड़ रुपये का राजस्व एकत्र किया था। राज्य सरकार को वित्त वर्ष 2017-18 में 14,357.76 करोड़ रुपये के राजस्व की उम्मीद है। हालांकि जुलाई से अक्टूबर की अवधि में सरकार ने जीएसटी के तहत 3,735.14 करोड़ रुपये का राजस्व प्राप्त किया है। इस वित्त वर्ष में पिछले साल की समान अवधि की तुलना में 2.30 फीसदी की वृद्धि दर्ज की गई है।

राज्य सरकार ने वित्त वर्ष 2016-17 की जुलाई से अक्टूबर की अवधि के दौरान कुल 3,651.28 करोड़ रुपये का राजस्व इकट्ठा किया। राज्य सरकार ने इसके अलावा पेट्रोलियम उत्पादों और शराब से (इन्हें जीएसटी से बाहर रखा गया है) मूल्य वर्धित कर (वैट) और केंद्रीय बिक्री कर (सीएसटी) से चालू वित्त वर्ष के पहले चार महीनों में 4,414.20 करोड़ रुपये का राजस्व प्राप्त किया। इन 4,415.20 करोड़ रुपये में से इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन लि. (आईओसीएल) ने साल 2015 के दिसंबर से 2017 के जुलाई के लिए वैट के रूप में सितंबर में 2,934 करो़ड रुपये का भुगतान किया है।